Research : अगर आप भी ज्यादा दाढ़ी (Beard) रखते हैं तो ये खबर आपके लिए

beard-grooming

आज के समय हर लड़के दाढ़ी यानी Beard में आसानी से दिख जाते हैं. अब इसकी वजह आप कुछ भी समझिए लेकिन सच ये है कि 15 साल के बाद से ही लड़कों में ये भूत सवार हो जा रहा है कि वे अपनी दाढ़ी को इतना बढ़ा लें जिससे वे अपनी उम्र से ज्यादा दिखें. लेकिन क्या आप जानते हैं जो लोग ज्यादा दाढ़ी रख रहे हैं इसे सही नहीं माना जाता. यकीन नहीं ? तो चलिए आज हम आपको रोचक सफर में आपको एक रिसर्च के बारे में बताएंगे..

भारत और अमेरिका में हाल ही में Beard वाले पुरुषों को लेकर एक शोध किया गया, जिसमें उनकी सोच को लेकर चौंकाने वाले तथ्य सामने आए. वहीं इस दाढ़ी के ट्रेंड को स्वास्थ्य के लिहाज से भी सही नहीं माना जा रहा है.

इस स्टडी में पाया गया है कि दाढ़ी रखने वाले ज्यादातर पुरुष धोखेबाज होते हैं और वे अपनी पार्टनर के प्रति वफादार नहीं होते हैं. जबकि क्लीन शेव मर्द तुलनात्मक रूप से ज्यादा वफादार होते हैं. वहीं दाढ़ी वाले पुरुषों को रुढ़‍िवादी मानसिकता का भी माना गया है.

दाढ़ी को मर्दों के आभूषण के तौर पर देखा जाता है. मर्दों की दाढ़ी को लेकर दो तरह क अध्ययन किए गए हैं. पहले सर्वे में करीब 100 आदमियों पर अध्ययन किया गया. जिनकी उम्र 18 से 72 साल के बीच थी. ये 100 पुरुष भारत और अमेरिका से थे. इन सभी पुरुषों की दाढ़ी अलग-अलग तरह की स्टाइल और लेंथ में थी. इस आधार पर इनके सामने कुछ सवाल रखे गए.

दाढ़ी
Image Courtesy : The Cheat Sheet

इस सर्वे के अनुसार, दाढ़ी रखे 86 प्रतिशत भारतीय मर्द और 65 फीसदी अमेरिकी मर्द तुलनात्मक रूप से अधिक रूढि़वादी पाए गए.

एक Online Survey Research द्वारा कराए गए इस सर्वे में पाया गया है कि दाढ़ी रखने वाले पुरुष अपनी पार्टनर के प्रति कम वफादार होते हैं.

वहीं एक अन्य  में कहा गया है कि ऐसे ज्यादातर पुरुष धोखेबाज होते हैं. हालांकि विशेषज्ञों की मानें तो दाढ़ी रखना काफी नुकसानदेह भी साबित हो सकता है. दाढ़ी (Beard) में बैक्टीरिया के पनपने का खतरा बहुत अधिक होता है. इस लिहाज से दाढ़ी रखना स्वास्थ्य के लिए नुकसानदेह भी साबित हो सकता है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*