डॉ. बी.आर. अम्बेडकर : जिसने दलितों को इंसान का दर्जा दिलाया, जानिए उनके बारे में

B. R. Ambedkar

साल 2016 में समूचा भारत देश दलित आइकन और भारतीय संविधान के मुख्य वास्तुकार डॉ. बी.आर. अंबेडकर की 125वीं जयंती का जश्न मनाया गया था. भारत की समृद्धि और विकास की सीढ़ी का मैप बनाने वाले अंबेडकर के जन्म दिवस पर सरकारी जगहों पर और उसके अलावा बहुत से जगह सेमिनार आयोजित किए जाते हैं. भारत में पिछले कुछ समय से आरक्षण को लेकर विवाद चल रहा है लेकिन बाबा साहेब ने आरक्षण के बारे में कुछ और ही सोचा था.

आज रोचक सफर में हम आपको डॉ अंबेडकर के जीवनकाल से जुड़े कुछ जाने और कुछ अनजाने तथ्य बताएंगे, शायद आप उनकी लोकप्रियता की वजह यहीं से जान पाएं. Dr. Bheemrao Ambedkar Facts in Hindi..

1. डॉ. अंबेडकर का जन्म 14 अप्रैल 1891 को ब्रिटिश भारत के मध्य प्रदेश में हुआ था. उनके पिता ब्रिटिश भारत सरकार में सूबेदार मेजर के उच्चतम रैंक पर काम करते थे.

2. डॉ अंबेडकर ने एक बार सिख धर्म में परिवर्तित होने पर विचार बनाया था. लोग उन्हें बाबा साहेब कहकर बुलाते थे. साल 1955 में मध्य प्रदेश और बिहार के बंटवारे के बारें में उन्होंने सुझाव दिया था जिसे 45 साल बाद माना गया.

3. डॉ अंबेडकर मैट्रिक पास करने वाले पहले व्यक्ति थे जो अछूत जाति से संबंध रखते थे.

4. बाबासाहेब ने कानून मंत्री पद से तब इस्तीफा दे दिया था जब महिलाओं के अधिकार वाले कानून को संसद द्वारा पारित करने की जगह विरोध का सामना करना पड़ा था.

अंबेडकर
Image Courtesy : indiatoday

5. डॉ अम्बेडकर ने साल 1952 और 1954 में चुनाव लड़ा था लेकिन वे चुनाव नहीं जीत नहीं पाए थे.

6. भारत में काम के समय को 14 घंटे से कम कर 8 घंटे करने का काम भी बाबासाहेब अम्बेडकर ने ही किया था.

7. डॉ अम्बेडकर की विदेशों में हुई शिक्षा का खर्च बड़ौदा के महाराजा द्वारा किया गया था.

8. अम्बेडकर अर्थशास्त्र में विदेश डिग्री डॉक्टरेट हासिल करने वाले पहले भारतीय थे.

9. भीमराव अंबेडकर अपने माता-पिता की चौदहवीं और आखिरी संतान थे.

10. डॉ. अंबेडकर के पूर्वज काफी समय तक ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कम्पनी में एम्प्लोयेड थे और उनके पिता ब्रिटिश इंडियन आर्मी में Mhow cantonment में तैनात थे.

11. बाबासाहेब मुंबई के गवर्नमेंट लॉ कॉलेज में दो साल तक प्रिंसिपल पद पर कार्यरत रहे.

12. डॉ. अम्बेडकर ही एक मात्र भारतीय हैं जिनकी portrait लन्दन संग्रहालय में कार्ल मार्क्स के साथ लगी हुई है.

Image Courtesy : GazabHindi

13. संविधान बनाने के सहयोग के साथ ही इंडियन फ्लैग में अशोक चक्र को जगह देने का श्रेय भी डॉ. अम्बेडकर को जाता है.

14. बाबासाहेब ने महिला श्रमिकों के लिए सहायक Maternity Benefit for women Labor, Women Labor welfare fund, Women and Child, Labor Protection Act जैसे कानून बनाए.

15. डॉ. अम्बेडकर बाद के सालों में डायबिटीज से बुरी तरह ग्रस्त थे.

16. बेहतर विकास के लिए 50 के दशक में ही बाबासाहेब ने मध्य प्रदेश और बिहार के विभाजन का प्रस्ताव रखा था, पर साल 2000 में जाकर ही इनका विभाजन कर छत्तीसगढ़ और झारखण्ड का गठन किया गया.

17. 26 दिसम्बर 1956 के दिन चार महीनों से बीमार चल रहे डा. साहेब का निधन हो गया था. दरअसल वे शुगर पेशंट थे और कुछ समय से उनका शुगर हाई लेवल पर चल रहा था.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*