अगर आप भी Online Shopping के शौकीन हैं तो इन्हें Online ही इन तरीकों से बेचें

Online Shopping
Image Courtesy : NepalBuzz

आजकल हर कोई Online Shopping कर रहा है इसके फायदे ये होते हैं कि घर बैठे आपको कई Varieties में सामान  मिल जाता है. मगर कभी-कभी इन सामानों में कुछ ऐसा आ जाता जिसे कस्टमर वापस करने पर आ जाते हैं. कुछ समय पहले सेकेंड हैंड खरीदारी और बेचदारी दोनों का ही जमकर बाजारीकरण हुआ था. इस तरह के मोबाइल ऐप ने बड़े-बड़े सितारों से विज्ञापन कराए दरअसल Second Hand खरीदारी या बेचदारी दोनों ही फायदे का सौदा है. खासकर के कम इनकम वालो के लिए, लेकिन इस फायदे के सौदे में आपको करारे नुकसान भी हो सकते हैं अगर आप इन खास बातों का खयाल नहीं रखते हैं. कई वेबसाइट और मोबाइल ऐप लगातार लोगों को उनके पुराने सामान बेचने के लिए प्रोत्साहित कर रहे हैं.

Online Shopping
Image Courtesy : NepalBuzz

ऐसे में अगर आप भी अपने घर में पड़े अब अनूपयोगी हो चुके सामान को बेचने की सोच रहे हैं तो प्रमुखता इस बात को समझ लें कि यहां अधिक चालाकी दिखाने के चक्कर में आपके ख‌िलाफ धोखाधड़ी की शिकायत दर्ज करया जा सकता है. इसलिए किसी तरह के कानूनी पचड़े में पड़ने से बेहतर होगा आप कुछ बातों को अच्छी तरह से समझ लें. अगर आप खरीदार हैं और पैसे बचाने के लिए ही पहले इस्तेमाल हो चुकी समान पर दांव लगा रहे हैं तो आपको दोहरा नुकसान हो जाए. पहले ही आपके पास कम पैसे हैं, ऊपर से आपके पैसे बर्बाद हो जाएं.

बेचते वक्त इन बातों का खयाल रखें 

1. हमेशा अपने सामान के बारे में संयमित भाषा का इस्तेमाल करें. बहुत बढ़ा-चढ़ा कर न लिखें.

2. अपने सामान के विवरण के साथ उसकी असली तस्‍वीर ही लगाएं.

3. खयाल रखें अपना सामान बेचने के लिए ऐसी वेबसाइट का इस्तेमाल बिल्कुल न करें, जो आपसे आपका पता और संपर्क सार्वजनिक करने को कहें.

4. इस बात को भलीभांति समझ लें कि बेचते वक्त आपके सामान की स्थिति उसी तरह हो जैसा कि आपने विवरण में लिखा था.

5. जिन सामानों के साथ आधिकारिकता के कागजात या वॉरण्टी कार्ड देना अनिवार्य हो, उन्हें सहेज कर रखें और खरीदार को सौंप दें.

खरीदारों की जिम्मेदारी अधिक –

1. बेचने वाले की भाषा-शैली का रखें विशेष खयाल. कोई बात चौंकाने वाली हो तो तत्काल उस पर सफाई मांगे.

2. इस तरह के मोबाइल ऐप या वेबसाइट पर सामानों के कीमत के लिए कोई आम तरीका नहीं होता. बेचने वाले स्वयं कीमतें तय करते हैं. ऐसे में बहुत मुमकिन हो कि किसी एक तरह के सामान की कीमत किसी ने 10000 तो किसी ने 6000 रखी हो. इसलिए हमेशा विकल्पों को खूब तलाशने के बाद निर्णय पर पहुंचें.

3. भूलकर भी वह सामान न खरीदें, जो बाजार से बाहर हो चुकी हैं बाद में आपको सामान के खराब होने पर फेंकना पड़ जाए. वही सामान चुनें जो बाजार में असानी से बिगड़ने पर बन जाए.

4. यह एक व्यावहारिक बात है, लेकिन इससे भी लोगों का खयाल उतर जाता है. कभी किसी बेचने वाले के बुलाने पर ऐसी जगह पर न जाए जहां सुरक्षा की दृष्टि से उचित इंतजाम न हों. क्योंकि ये दोनों ही ओर से पहली मुलाकातें होती हैं, इसलिए सुरक्षा पहलुओं पर सोचना जरूरी है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*