फल (Fruit) से जुड़े ये अनसुने और दिलचस्प Facts जानते हैं आप ? नहीं तो पढ़िए

Fruit facts in Hindi
Image Courtesy : veggiedesserts

फल खाना किसे नहीं पसंद है ? हर कोई फल खाना चाहता है लेकिन कुछ फल इतने महंगे होते हैं कि लोग उसे खरीदने के लिए तरसते हैं. हर फल के अपने फायदे होते हैं और Fruit khane ke fayde आपको खुद खाने के बाद ही पता चलेगा. Fruits के फायदे सबको पता होने चाहिए लेकिन कुछ ऐसी चीजें नहीं पता होंगी जो हम आपको Fruit facts in Hindi बताने जा रहे हैं. अच्छी सेहत में फलों की बेहद अहम् भूमिका होती है. ये तो हम सभी जानते हैं लेकिन फलों के बारे में पूरी तरह जानकारी आमतौर पर किसी को नहीं होती.

Fruit facts in Hindi
Image Courtesy : veggiedesserts

रोज फल खाएं और स्वस्थ रहें, अब यह कोई कहावत नहीं है, बल्कि सच्चाई हैं. फल खाते तो सभी हैं लेकिन इनके फायदे और नुकसान बहुत कम लोग जानते हैं. और दूसरी बात क्या कभी आपने सोचा कि यदि फलों में राजा आम है तो फिर उसकी रानी कौन? नहीं मालूम तो चलिए हम आपको बताते हैं……..

1. फलो से संबंधित पढ़ाई को “Pomology” कहा जाता है.

2. अमेरिका की दुकानो पर जो सेब बेचा जाता है वह एक साल पुराना होता है.

3. क्या आप जानते है दुनिया का सबसे Produce होने वाला फल टमाटर है.

4. लीची के बीज खाने नही चाहिए क्योंकि यह जहरीले होते है.

5. अंगूर के कुल उत्पादन का 71 प्रतिशत हिस्सा शराब बनाने में उपयोग किया जाता है.

6. सेब का तेल त्वचा के लिए बहुत ही लाभदायक है. यह त्वचा पर पड़ी झुर्रियां, टूटी त्वचा, खुजली और सूजन को दूर करता है.

7. केले थोड़े से रेडियोधर्मी भी होते है.

8. दवाई लेने के बाद अंगूर खाने से आपकी मौत भी हो सकती है.

9. यदि आप अंगूरो को माइक्रोवेव में रखते है तो यह फट जाएगें.

10. सेब पानी में तैरने लगते है क्योंकि उनमें 25 प्रतीशत हवा होती है.

11. अगर आप को किसी चीज से ईर्ष्या(जलन) है तो अगर आप केले खाए तो यह कम हो सकती है. क्योंकि इन में एक प्राक्रितक अम्ल(तेजाब) होता है जो कि हमारे शरीर के अंदर जाकर इसके प्रभाव को कम करता है.

12. सेब लगभग 7,000 प्रकार के होते है.

13. आम दुनिया में सबसे पसंद किया जाने वाला फल है. इसे फलों का राजा कहते है और यह भारत का राष्ट्रीय फल है.

14. स्ट्रॉबेरी और काजू एकलौते ऐसे फल है जिनके बीज फल के बाहर होते है जबकि अन्य फलों के अंदर होते है.

15. कई सालों पहले खोजकर्ता लंबे अभियानों पर पानी ले जाने के निए तरबूज का उपयोग करते थे.

16. क्या आपको पता है कि केला पानी में तैर सकता है.

17. केलों को कच्चा तोड़ने के बाद रसायनिक तरीको से पकाया जा सकता है जबकि अंगूरों को नही.

18. जापानी किसानो द्वारा “वर्गाकार तरबूज” उगाए जाते है ताकि इन्हें आसानी से स्टोर किया जा सके.

19. अगर किसी पेड़ पर लगे अनानास को उल्टा कर दिया जाए तो यह जल्दी पक जाता है.

20. टमाटर में मनुष्य से ज्यादा जीन्स पाए जाते है.

21. मनुष्य के “DNA” का 50% हिस्सा केले के साथ मिलता जुलता है.

22. नींबू सफाई करने के लिए सबसे उपयुक्त फल है क्योंकि इसमें अधिक मात्रा में ऐसा तेजाब पाया जाता है जो कि बैक्टीरिया को मार देता है.

23. आप नाशपाती के छिल्के के साथ फर्नीचर बना सकते है क्योंकि यह बहुत सख्त होता है.

24. “Coffee” पीने की तुलना में सेब खाने से अधिक ऊर्जा प्राप्त होती है.

25. कुछ वैज्ञानिक मानते है कि केला धरती का पहला फल है.

26. गोभी में भी तरबूज के जितना ही पानी होता है. तरबूज में 92 प्रतिशत जबकि गोभी और गाजर में क्रमश 90 प्रतिशत और 87 प्रतिशत होता है.

27. आप मूंगफली के तेल द्वारा नाईट्रोग्लिसरीन तैयार कर सकते है जो कि बारूद का एक मुख्य हिस्सा होता है.

28. एक सुखे फल में ताजा फल से ज्यादा कैलोरी होती है क्योंकि सुखे फल से पानी की मात्रा बाहर निकल जाती है.

29. अनानास वास्तव में एक बड़े आकार का बेर है.

30. स्ट्राबेरी में संतरे से भी अधिक “Vitamin C” पाया जाता है.

31. लाल फल आप के दिल को मजबूत रखने में सहायक होते है.

32. अध्ययनों के बाद पता चला है कि रोज सुबह अंगूर खाने से वजन 1.5 किलो तक कम हो सकता है. यह मधुमेह से भी बचाव करता है.

33. संतरी फल आपकी ऑखों को, पीले फल सही तापमान को बरकरार और हरे फल आप की हड्डियो और दांतों को स्वस्थ रखते है. नीले और बैंगनी रंग के फल याददाश्त को अच्छा रखते हैं.

35. एक साधारण या मिश्रित अंडाशय जिसमे सिर्फ एक पुंकेसर हो के पकने पर एक साधारण फल प्राप्त होता है जो सूखा या गूदेदार हो सकता है.

36. सूखे मेवे पकने पर या फट कर बीज निकालने या न फटने में बीज अन्दर ही रहते हैं. सूखे और सामान्य फल के उदाहरण हैं: वह फल जिनमें फल भित्ति का कुछ भाग या पूरी भित्ति ही पक्वन पर मांसल (गूदेदार) हो जाती है, सामान्य गूदेदार फल कहलाते हैं.

37. फलों का नियमित सेवन कैंसर, हृदय रोग, पक्षाघात, अल्ज़ाइमर रोग और मोतियाबिंद के जोखिम को कम कर देता है, साथ ही यह बढ़ती उम्र से जुड़ी कार्यात्मक गिरावट को रोकने मे भी मददगार हैं.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*